Sunday, April 14, 2019

मज़ेदार चुटकुला- रात के एक बजे नवाब की वाइफ बोलती है...

रात के एक बजे नवाब की वाइफ बोलती है,

वाइफ–सुनिए जी,अलमारी के पीछे कोई चोर छुपा है,

नवाब–अगर उसके पास हथियार हुआ तो,

वाइफ–आप का इन्षुरेन्स है पर गहनों का नहीं।


वाइफ-ज़रा किचन से नमक लेते आना,

बेचारा पति-यहाँ तो नमक नहीं मिल रहा है,

वाइफ-हे भगवन मेरे बाप को तुम्हारे जैसा ही सूरदास मिलना था,मुझे पता था तुम तो हो ही अंधे

कामचोर हो…निकम्मे हो….गधे हो….एक काम ढंग से नहीं कर सकते,

बस बहाने बनाते हो ज़िन्दगी में कुछ तो काम करो…

मुझे पता था तुम्हें नहीं मिलेगा इसीलिए पहले ही ले आयी थी,

अगर आपको समझा कि क्या हुआ तो लाइक करे और शेयर करे।


बबलू अपनी गर्लफ्रेंड पिंकी से,

बबलू–जान देखो न कितना रोमांटिक मौसम है

कुछ शायरी अपनी नाजुक गुलाबी होंठो से सुना दो

गर्लफ्रेंड (मजाकिया मूड में)–क्या मौसम आया है

हर तरफ पानी ही पानी लेजे है

एक जादू सा छाया है

तुम घर से मत निकलना बबलू

वर्ण लोग कहेंगे बरसात हुई

नहीं की मेढक निकल आया है।


एक सुंदर सी लड़की स्कूटी में पेट्रोल भरवाने गयी।

लड़की : भैया एक लीटर डाल दो

पेट्रोल वाला : ठीक है।

लड़की : भैया कितने रूपये लीटर है।

पेट्रोल वाला : 66.45 रुपये है मैडम

लड़की : भैया सही सही लगा लो वो बगल वाले तो 55 का दे रहे हैं।


मनीषा ने इलेक्ट्रेशियन पप्पू को फोन किया,

मनीषा-मैंने आपको चार दिन पहले फोन किया था कि,

हमारी डोरबेल खराब है,

आप अब तक नहीं आए।

सुमित-मैं तो रोज आता हूं और डोरबेल बजाता हूं।

लेकिन कोई दरवाजा ही नहीं खोलता।


पति ने पत्नी को फ़ोन किया

बहुत देर घण्टी बजती रही

पति (गुस्से में )–इतनी देर से फ़ोन क्यों उठाया

पत्नी (खीज में )–रिंगटोन पर नाच रही थी

पता नहीं है तुम्हें घर पे कितने काम होते है।


पिंकी–मम्मी मुझे बाहर शर्मा जी के बेटे ने छेद दिया

मम्मी–क्या किया उसने?

पिंकी–मेरे गाल पे किस किया

मम्मी–तू जब कॉलेज गयी तो रेड कलर की लिपस्टिक

लगा के गयी थी, वो लिपस्टिक तो तेरे होंठ पर नहीं है

पिंकी–मम्मी वो बाहर पिजा खाया था तो साफ हो गया

मम्मी (झापड़ मारते हुए)–वो शर्मा का बेटा ही मुझे

तेरे कॉलेज में ले गया था, वहाँ मैंने देखा तू एक लड़के को

किस कर रही थी और तू उल्टा उसे ही फंसा रही हो।

मेरा आर्टीकल पुरा पढ़ने के लिए घन्यवाद और अच्छा लगे तो मुझे फौलौ करें। अगर आप को हंसी आई है तो दुसरो को भी हंसाना, घन्यवाद.

No comments:

Post a Comment